image

मुंबईः भारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवी बल्लेबाज रोहित शर्मा का कहना है कि वह मैदान पर उतरने के बाद शतक या दोहरा शतक लगाने के बारे में कभी नहीं सोचते। वेबसाइट ‘ईएसपीएन’ की रिपोर्ट के अनुसार, रोहित ने कहा कि उनका मकसद अच्छे रन बनाना और टीम को बेहतर स्थिति में पहुंचाना होता है। 

उल्लेखनीय है कि मुंबई में सोमवार को खेले गए चौथे वनडे मैच में रोहित ने भारत के लिए 152 रनों की नाबाद अर्धशतकीय पारी खेली थी। ऐसे में दोहरे शतक के बारे में उन्होंने कहा, ‘‘बल्लेबाजी के दौरान मैं कभी भी शतक या दोहरे शतक के बारे में नहीं सोचता। मैं केवल मैदान पर उतरकर बल्लेबाजी करते हुए अच्छे रन बनाना और अपनी टीम के मजबूत स्थिति में पहुंचाने के बारे में सोचता हूं।’’

खेल-खेल में बच्चों ने पीया जहरीला पदार्थ, पढ़ें उसके बाद की दर्दनाक कहानी

रोहित ने कहा, ‘‘मैंने आईसीसी में बहुत क्रिकेट खेला है और हमेशा ब्रेबॉर्न स्टेडियम में बल्लेबाजी करने का आनंद लिया है। यह अच्छी पिच है और आपको अच्छे शॉट मिलते हैं। ऐसे में जब आप एक ऐसे मैदान पर कदम रखते हैं, जहां आपने कई बार मैच खेले हैं, तो आप हमेशा आत्मविश्वास के साथ उतरते हैं।’’

रोहित ने कहा कि सोमवार को खेले गए मैच के दौरान वह इसी आत्मविश्वास के साथ मैदान पर उतरे थे। वह इस पिच को समझते हैं और स्पिन गेंदबाजी में इस पिच की प्रतिक्रिया को भी। ऐसी चीजें काफी अहम होती हैं।

Web Title: Rohit said never thought of century or double century

More News From sports

Advertisement
Advertisement
Next Stories
image

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
free stats