image

लखनऊः इस समय हर किसी की जुबार पर राम मंदिर का मुद्दा चढ़ा हुआ है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने सबी को चौका दिया है। सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या में विवादित जमीन के मामले की सुनवाई जनवरी तक टलने के बाद राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गई है। एक ओर जहां राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने की मांग उठ रही है, मामले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभी फिलहाल इस तरह की संभावनाएं नहीं दिखती हैं। उन्होंने साफ किया है कि न्यायिक प्रक्रियाओं का पालन किया जाएगा। साथ ही उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से जल्द इस मामले को सुलझाने की अपील की। सीएम योगी ने मंगलवार को कहा, 'हम संवैधानिक बाध्यताओं से बंधे हैं। 

#MeToo Chetan Bhagat  |   #MeToo Akshay Kumar   |   #MeToo Vikas Behl
 

सुप्रीम कोर्ट यथाशीघ्र इस मामले का समाधान करे। न्याय मिलने में देरी होती है, तो लोगों में इससे निराशा होती है। इसके साथ ही उन्होंने कहा, मामला शीर्ष अदालत में है, लेकिन देश की शांति और सौहार्द के लिए और व्यापक आस्था का सम्मान करने के लिए जो भी विकल्प हैं उन पर विचार करना चाहिए। मंदिर निर्माण में देरी पर संतों की नाराजगी के सवाल पर उन्होंने कहा, 'संतों का हम सम्मान करते हैं। यह संक्रमण काल का एक ऐसा दौर है, जब संतों को धैर्य रखने की जरूरत है जिससे देश में शांति और सौहार्द बना रहे। 

#MeToo Kangana Ranaut  |    #MeToo Sajid Khan   |    #MeToo Alok Nath

Web Title: Yogi again said on Ram temple

More News From national

Advertisement
Advertisement
Next Stories
image

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
free stats